आपका हार्दिक स्वागत है
नीरजा द्विवेदी

देख पराई चूपड़ी मत ललचावे जी

एक छोटी सी लड़की थी . नाम था शुचिता. बहुत प्यारी,  बहुत होशियार. प्यार से सब उसे शुचि बुलाते थे. उसमें…

add comment