आपका हार्दिक स्वागत है
पंखुरी सिन्‍हा

परमानेंट बाशिंदगी की फंतासी

पाने में निजात उस भयानक दर्द से भयानक तकलीफ से उस कुछ सभालने में उसे हज़ार किस्से, हजारों कहानियां हज़ार…

add comment
पंखुरी सिन्‍हा

डेटिंग ऑनलाइन

कागज़ होता तो वो चूमती उसे लेकर शायद उसका नाम भी लेकिन सबकुछ मायावी था तारों में, जालों में मशीन…

4 comments