आपका हार्दिक स्वागत है

मृदुला सिन्हा जी का जन्मदिन और ममत्व की छाँव में भीगता मन!’

“आपका चले जाना इस दुनिया के लिए होगा, लेखन संसार और मेरे लिए कतई भी नहीं!” 18 नवंबर, 2020 को…

add comment

तीन कविताएँ

(1) यह बहुत बार होगा यह बहुत बार होगा जो आप सोचते हैं वह जरूरी नहीं कि पूरा ही हो…

add comment

अलग-अलग वैतरणी

एक तरफ है उपन्यास सम्राट और कथा सम्राट प्रेमचंद की कालजयी कृति ‘गोदान‘ उपन्यास की कथा। तो दूसरी तरफ है…

add comment