आपका हार्दिक स्वागत है

कविता—तुलना

बादलों को देखकर हमेशा ही अच्छा लगता है कभी रूई से लगते हैं कभी बूढ़े बाबा की दाढ़ी जैसे कभी…

add comment

कहानी— ऐमी

एक पतली-दुबली, लंबी, आकर्षक से चेहरे वाली, मुस्कान से भरी लड़की ‘ऐमी’, मेरे दफ्तर के बहुत अच्छे पद पर नई-नई…

add comment

कविता—इंतज़ार

एकदम साफ नीले रंग का आकाश था हवा भी मीठी मीठी सी थी मैं प्रकृति का आनंद उठाने के लिए…

1 comment