आपका हार्दिक स्वागत है

तीन कविताएं—भेड़, पर्दे और डिग्री वाला दिन

भेड़ भेड़ों में नहीं होता सही नेतृत्व चुनने का शऊर और चुने हुए ग़लत नेतृत्व को उखाड़ फेंकने का साहस…

1 comment