आपका हार्दिक स्वागत है

देख दुपहरी जेठ की

मई का मध्याह्न। चिलचिलाती हुई धूप और तेज लू की लपटों के बीच किसी आम के पेड़ के नीचे बोरे…

1 comment