आपका हार्दिक स्वागत है

छह प्रेम कविताएं

(१) सखि आओ तुम अलि आओ तुम, काली आंखों में ढेर सारा काजल डालकर, जैसे हर दिन के बाद चली…

1 comment