आपका हार्दिक स्वागत है

कहानी—घिरनी दादी

“हम नौ साल में बिहा गये थे बेटा. तुम्हारे दादाजी का तब सतरहवाँ साल शुरू हुआ था. हमारी छटपटाहट, हमारा…

1 comment